शुगर लेवल चार्ट उम्र के अनुसार | Sugar Level Kitna Hona Chahiye

शुगर लेवल चार्ट उम्र के अनुसार | Sugar Level Kitna Hona Chahiye

रक्त में मौजूद ग्लूकोज (glucose)  (“sugar” expressed in mg/dL) ‎ (“चीनी” मिलीग्राम / डीएल में व्यक्त) की मात्रा में दिन और रात में उतार-चढ़ाव होता है। हम ठीक से अपनी ज़िन्दगी गुज़ार सकें  हमारा शरीर चयापचय (metabolism) के लिए ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर को बनाए रखता है। एक स्वस्थ इंसान में सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर 90 से 100 mg/dL के बीच होता है। लेकिन कभी-कभी, ये ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर बहुत सी चीज़ों के कारण कम या ज़ायदा हो सकता है। डायबिटीज इस तरह के अचानक ब्लड शुगर (blood sugar level)   की मात्रा का कम या ज़ायदा  (high or low)  होना  सेहत के लिए हानिकारक है । यह एक संकेत देता है की आपको इलाज की ज़रूरत है । यह आर्टिकल उम्र के अनुसार डायबिटीज वाले जवान (पुरुषों या महिलाओं) के लिए सामान्य ब्लड शुगर लेवल चार्ट के बारे में सही जानकारी देता है।

इसका एक कारण डायबिटीज हो सकता है और डायबिटीज से जीतने के लिए ज़रूरी है की डायबिटीज का पता पहले हे चल जाये और सही इलाज हो जाये । डायबिटीज के मरीज़ को हमेशा अपना बहुत ख्याल रखना चाहिए क्युकी ज़रा सी लापरवाही उसको काफी नुक्सान पोहचा सकती है। उसको अपना सारा काम डॉक्टर के मुताबिक ही करना चाहिए ।

डायबिटीज के मरीज़ को अपने ब्लड शुगर की मात्रा को स्तिर बनाये रखना है ।  अगर आपको डायबिटीज है तो क्या होना चाहिए आपका नार्मल ब्लड शुगर लेवल जानिए इस आर्टिकल मे ।

Table of Contents

डायबिटीज (मधुमेह) में ब्लड शुगर का स्तर क्यों बढ़ता है?

हम जो खाना खाते हैं वह ग्लूकोज (Glucose) में परिवर्तित हो जाता है। और वह ग्लूकोज खून के साथ हमारे कोशिकाओ मे प्रवेश करता है जहाँ ग्लूकोज के ज़रिये ऊर्जा पैदा की जाती है । इसलिए खाना खाने के बाद ब्लड ग्लूकोज लेवल (blood glucose level) ज़्यादा होता है। ग्लूकोज के स्तर में तेज़ी हमारे अग्न्याशय (signals our pancreas) को इंसुलिन (insulin) जारी करने का इशारा देती है।

इंसुलिन (Insulin) हमारे शरीर की कोशिकाओं को ग्लूकोज को अवशोषित करने में मदद करता है। इसलिए, ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर नीचे चला जाता है। इस तरह ब्लड शुगर का स्तर दोबारा से सही  हो जाता है। इस तरह इंसुलिन हमारे ग्लूकोस लेवल को सही रखने में मदद करता है। और साथ ही मरीज़ को सही जीवन जीने में मदद करता है। अगर यह सही है तो सुब सही है।

लेकिन डायबिटीज की स्थिति में हमारा शरीर इंसुलिन प्रतिरोधी हो जाता है या फिर इंसुलिन की कमी हो जाती है। इन्सुलिन की  ज़्यादा या कम मात्रा हमारे शरीर में बहुत सरे बदलाव लाती है।‎ जिसकी वजह से इंसान को काफी सारी दिक्कतों  का सामना करना पड़ सकता है।‎  एक डायबिटीज मरीज़ को चाहिए की उसका इंसुलिन लेवल ठीक रहे ताकि वह डायबिटीज की जटिलताओं से दूर रहे ।इससे बहुत सारी बीमारियों से दूर रहता है।‎ इससे आपके गुर्दे की आँखों की दिल की बीमारियां अनिंद्रा रोग जैसी अनेक बीमारियां  नहीं होती हैं।‎  इसमें मरीज़ को काफी सारी सावधानियां बरतनी पड़ती हैं।‎ ज़रूरत है सही जानकारी की और इसके लिए सही ग्लूकोस का लेवल मालूम होना ज़रूरी है । इसलिए यदि आपको मधुमेह है, तो कुछ विशिष्ट स्वीकार्य मूल्यों पर अपने रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखना आवश्यक है, जो एक स्वस्थ जीवन शैली के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है जो मधुमेह को उलटने में सहायता करेगा।

खाने, व्यायाम करने, सोने के पैटर्न, तनाव प्रबंधन और अपने रक्त शर्करा के स्तर की नियमित निगरानी के ज़रिये आप मधुमेह (Diabetes) को बेहतरीन तरीके से प्रबंधित कर सकते हैं।

blood sugar normal range in hindi

blood sugar normal range in hindi

सारांश

ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर, यदि ज़्यादा  है, तो यह भी एक डायबिटीज का कारण बनता है। ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर के चार्ट ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर की हमेशा ठीक से निगरानी करने में मदद करता हैं। और सर्टिफाइड डायबिटीज रिवर्सल कोच की सही मदद से मरीज़ अपनी डायबिटीज को कण्ट्रोल करने में कामयाब हो सकता है। बस उसको उनके बताये हुए रास्ते पर चलना होगा। क्युकी एक कोच ही मरीज़ की ठीक होने में बहुत अच्छे से सहायता कर सकता है।

स्वस्थ व्यक्तियों में सामान्य ब्लड शुगर (खाने से पहले और भोजन के बाद) |  Sugar Level Khane Se Pehle Aur Khane Ke Baad in Hindi

ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर,  सामान्य, ज़्यादा  या कम हो सकता है। ब्लड शुगर (blood sugar level)   का स्तर आमतौर पर खाने के 8 घंटे बाद मापा जाता है।

एक स्वस्थ  जवान  (पुरुष या महिला) के लिए 8 घंटे के  भूका रहने के बाद सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level)  की सीमा > 70 मिलीग्राम / डीएल और <100 मिलीग्राम/डीएल. होनी चाहिए।‎ ‎

जबकि एक स्वस्थ व्यक्ति में खाने के 2 घंटे बाद सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level)   का स्तर 90 से 100 mg/dL के बीच होता है।‎

ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर पूरे दिन बदलता रहता है। ब्लड शुगर (blood sugar level)   के स्तर में इस तरह के परिवर्तन को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारण इस प्रकार हैं:

  1. खाने का प्रकार:- जिन खानो का इस्तेमाल हम रोज़ करते है उनमे हमे पता होना चाहिए के हम क्या खा रहे है, और वो हमारे  लिए कितने फायदेमंद हैं। बहुत ज़्यादा कैलोरी वाला खाना शुगर को बहुत तेज़ी के साथ बढ़ा देता है। और ऎसे खाने के साथ साथ दिन में शुगर बढ़ती और घटती रहती है।
  2. खाने की मात्रा: – खाने की मात्रा हमारे ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर को भी प्रभावित करती है। ज्यादा खाने से शुगर लेवल बढ़ सकता है।
  3. व्यायाम:- इंसान का चलना फिरना इंसान के शुगर लेवल को भी कण्ट्रोल में रखता है। सही समय पर सही से किया गया व्यायाम मरीज़ के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। और मरीज़ को इस बात का भी बहुत ख्याल रखना है की वो ज़रूरत से ज़्यादा व्यवयाम न करे भरी एक्सरसाइज उसके लिए नुकसानदायक है। जो लोग अपने मधुमेह को उलटने में सफल होते हैं उन्हें मधुमेह उत्क्रमण कोच से निरंतर समर्थन और प्रेरणा मिलती है। ये विशेषज्ञ आपको यह तय करने में मदद करते हैं कि आपके सामान्य रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने के लिए कितना और किस प्रकार के व्यायाम की आवश्यकता है।
  4. दवाएं:- कुछ दवाएं भी शुगर लेवल को बढ़ा सकती हैं।‎
  5. हाइपोग्लाइसीमिया, मधुमेह और यकृत रोग  ( like hypoglycemia, diabetes, and liver disease) जैसी चिकित्सीय स्थितियां सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level)   के स्तर में परिवर्तन का कारण बन सकती हैं।
  6. शराब के सेवन से हमारे ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर गिर सकता है।
  7. धूम्रपान से टाइप 2 डायबिटीज हो सकती है।
  8. उम्र के साथ इंसुलिन सहनशीलता कम हो जाती है, जिससे डायबिटीज की संभावना’ बढ़ जाती है।
  9. तनाव:- शारीरिक या मानसिक तनाव, आपके सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर को बढ़ा सकता है।‎
  10. निर्जलीकरण ‎ (Dehydration) के परिणामस्वरूप निम्न ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर हो सकता है।‎

इनमे से काफी समस्याओं को सही मार्दर्शन, सही दवाई, सही उपचार, सही खान पान, सही व्यायाम और इच्छा शक्ति के साथ कम किआ जा सकता है।

chart of normal sugar level and what level of blood sugar is dangerous

सारांश

नार्मल ब्लड शुगर लेवल सवस्त लोगो मे और उन मे जिन्होंने डायबिटीज को उल्टा है (जीता है) वह 90 to 110 mg/dL के बीच रहता है ।

आयु के अनुसार ब्लड शुगर लेवल चार्ट | Umra ke Hisab Se Sugar Level Kitna Hona Chahiye

डायबिटीज एक ऐसी स्थिति है जब सामान्य रक्त शर्करा का स्तर अधिक होता है। लेकिन कभी-कभी, रक्त शर्करा का स्तर सामान्य स्तर से नीचे गिर सकता है। इस प्रकार, मधुमेह के रोगियों के लिए, शर्करा का स्तर दिन में और उम्र के साथ अलग-अलग होगा। मधुमेह रोगियों के लिए आयु-वार विस्तृत शुगर लेवल चार्ट नीचे दिया गया है।

डायबिटीज वाले बच्चों और किशोरों में सामान्य ब्लड शुगर लेवल चार्ट | Normal Sugar Level In Children & Teens in Hindi

आयु के अनुसार बच्चों में सामान्य ब्लड शुगर के स्तर का चार्ट
आयु उपवास के बाद सामान्य ब्लड शुगर का स्तर (FBS) ब्लड शुगर का स्तर भोजन से पहले खाना खाने के 1 से 2 घंटे बाद सामान्य ब्लड शुगर लेवल सोते समय ब्लड शुगर का स्तर
6 साल तक >80 to 180 mg/dL 100 to 180 mg/dL 180 mg/dL 110 to 200 mg/dL
6 to 12 साल तक >80 to 180 mg/dL 90 to 180 mg/dL Up to 140 mg/dL 100 to 180 mg/dL
13 to 19 साल तक >70 to 150 mg/dL 90 to 130 mg/dL Up to 140 mg/dL 90 to 150 mg/dL

डायबिटीज (diabetes) वाले बच्चों में सामान्य ब्लड शुगर लेवल चार्ट उम्र के अनुसार | Normal Blood Sugar Levels in Children Age Wise in Hindi

  1. ‎6 वर्ष की आयु के बच्चों में ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 80 से 200 mg/dL के बीच होना चाहिए।
  2. बच्चों में ग्लूकोज का स्तर उनके उठने के समय से लेकर उनके भोजन करने के समय तक भिन्न होता है। इस प्रकार, उनके ग्लूकोज के स्तर की नियमित निगरानी आवश्यक है।
  3. खासकर अगर आपके बच्चे को आधी रात में हाइपोग्लाइसीमिया (hypoglycemia) की शिकायत है, तो ब्लड शुगर (blood sugar level) परीक्षण आवश्यक है।
  4. ‎6 से 12 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए, ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर की स्वस्थ सीमा 80 से 180 मिलीग्राम/डीएल के बीच है। हालांकि, इस उम्र में, यह पाया गया है कि भोजन के बाद ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है। इसलिए, सोते समय स्वस्थ ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर को सुनिश्चित करने के लिए सोने से पहले अपने नाश्ते का सेवन सीमित करना आवश्यक है।
  5. किशोरों के लिए, स्वस्थ ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 70 mg/dL से 150 mg/dL के बीच होता है। किशोरों में अनियमित ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर का एक कारण आनुवंशिकता हो सकती है। किशोरावस्था में स्वस्थ ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर को प्रबंधित करने में महत्वपूर्ण चुनौती उनका तनाव और जीवन शैली के मुद्दे हैं, लेकिन किशोरों में ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर को नियंत्रित करना अच्छा खाने, सोने की आदतों और सही उम्र में अन्य जीवन शैली में संशोधन के माध्यम से संभव है। जिसका पालन जीवन भर आसानी से किया जा सकता है।
  6. ‎बच्चों में खतरनाक ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर जिन्हें चिकित्सकीय ध्यान देने की आवश्यकता होती है <‎‎70 मिलीग्राम/डीएल और> 180 मिलीग्राम/डीएल है ।‎

सारांश

डायबिटीज (diabetes)  के बच्चों में, स्वस्थ ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर 70 से 180 मिलीग्राम / डीएल के बीच होता है। और यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि वे सही आहार और जीवन शैली का पालन करें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि डायबिटीज (diabetes) से संबंधित जटिलताएं उम्र के साथ न बढ़ें।

मधुमेह वयस्कों के लिए सामान्य शुगर लेवल चार्ट उम्र के अनुसार (भोजन से पहले और बाद में) |

मधुमेह वयस्कों के लिए सामान्य शुगर लेवल चार्ट
Age उपवास के बाद सामान्य ब्लड शुगर का स्तर (FBS) ब्लड शुगर का स्तर भोजन से पहले ब्लड शुगर का स्तर भोजन से पहले सोते समय ब्लड शुगर का स्तर
20+ से ज्यादा उम्र तक 70 to 100 mg/dL 70 to 130 mg/dL 180 mg/dL से कम 100 to 140 mg/dL
गर्भवती महिला 70 to 89 mg/dL 89 mg/dL 120 mg/dL से कम 100 to 140 mg/dL

रैंडम ब्लड शुगर लेवल चार्ट | Random Sugar Level Chart in Hindi

रैंडम  ब्लड शुगर लेवल का टेस्ट दिन मे किसी भी समय किआ जा सकता है । अमूमन डायबिटीज के ब्लड टेस्ट या तो भूके पेट या 1 या 2 घंटे खाना खाने के बाद किए जाते है । मगर इस रैंडम टेस्ट के लिए ऐसा कोई ज़रूरी नहीं के आप भूखे पेट हो या खाना खाये हुए । यह टेस्ट अचानक किसी भी समय की ब्लड शुगर लेवल को नापता है । अगर इसमें आपका ब्लड शुगर 200 mg/dL से ज़ायदा है तो यह डायबिटीज के संकेत है ।

यदि कोई व्यक्ति निम्नलिखित लक्षणों की शिकायत करता है तो रैंडम ब्लड शुगर स्तर परीक्षण की सिफारिश की जाती है:

  • धुंधली दृष्टि
  • अनियोजित वजन घटाने
  • शुष्क मुँह और निर्जलीकरण
  • धीमी गति से घाव भरना
  • बार-बार पेशाब आना

इसको भी पढ़े: एचबीए1सी (HbA1c) टेस्ट, चार्ट, मात्रा और नार्मल रेंज | All About HbA1c Test in Hindi

मधुमेह वयस्कों (पुरुष या महिला) में स्वस्थ शुगर लेवल चार्ट | Healthy Sugar Level in Person With Diabetes in Hindi

  1. 20 वर्ष से अधिक उम्र के डायबिटीज (diabetes) रोगियों में, ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर पूरे दिन 100 से 180 मिलीग्राम / डीएल(mg/dL)  के बीच रहता है।
  2. डायबिटीज (diabetes) संबंधी जटिलताओं से बचने के लिए उपवास ग्लूकोज का स्तर 70 से 100 मिलीग्राम/डीएल के बीच होना चाहिए।
  3. किसी भी डायबिटीज (diabetes) संबंधी जटिलताओं से बचने के लिए सोते समय ब्लड शुगर (blood sugar level)का स्तर 100 से 140 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL) के बीच होना चाहिए।
  4. महिलाओं के लिए ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर चार्ट से पता चलता है कि सोने के समय सामान्य ग्लूकोज का स्तर 100 से 140 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) के बीच होना चाहिए। यह उपवास के बाद >70 (mg/dL)  और <100 mg/dL होना चाहिए।‎
  5. डायबिटीज (diabetes) गर्भवती महिलाओं में, ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर थोड़ा ठीक  होना चाहिए, उपवास के बाद 70 से 89 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) के बीच  होना चाहिए। उन्हें प्रसव संबंधी जटिलताओं से बचने के लिए नियमित रूप से अपने ग्लूकोज के स्तर की निगरानी करनी चाहिए।‎

सारांश

वयस्कों को भोजन से पहले ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर 70 से 130 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) और भोजन के 2 घंटे बाद 180 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से कम बनाए रखना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को जटिलताओं से बचने के लिए ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर 95-140 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL)  बनाए रखना चाहिए।

मधुमेह वयस्कों मे उच्च और निम्न ब्लड शुगर की मात्रा चार्ट | High or Low Sugar Levels in Diabetic Adults in Hindi

नीचे दिया गया चार्ट डायबिटीज (diabetes)  के रोगियों के लिए ब्लड शुगर (blood sugar level)  के खतरनाक स्तर को दर्शाता है। यह चार्ट दो तरह के स्तर दर्शाता है एक लाल स्तर और एक पीला स्तर । लाल स्तर ऐसे संकेतक हैं जिनके लिए आपातकालीन उपचार की आवश्यकता होती है, जबकि पीले स्तर पीला स्तर भी इलाज का संकेत देता है परन्तु यह आपातकालीन स्तिति नहीं होती । तो, यह स्पष्ट है कि 250 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से अधिक ब्लड शुगर का स्तर खतरनाक हो सकता है। यह अनुशंसा की जाती है कि आपको तुरंत डॉक्टर से परामर्श करने की आवश्यकता है।‎

मधुमेह वयस्कों मे उच्च और निम्न ब्लड शुगर की मात्रा
ब्लड शुगर स्तर की स्थिति लाल स्तर पीला स्तर
उच्च >250mg/dL 180-250mg/dL
निम्न 70mg/dL से नीचे 71 to 90 mg/dL

जवानों (पुरुषों या महिलाओं) में उच्च (High)ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर

  1. ‎250 mg/dL से ऊपर ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर बहुत अधिक माना जाता है। इसलिए, इसे तत्काल चिकित्सा उपचार की आवश्यकता है। इसके अलावा, ‘कीटोन्स टेस्ट’ करवाने की सलाह दी जाती है
  2. 180 से 250 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL) के बीच ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर उच्च माना जाता है। इसलिए, उच्च स्तर को नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन थेरेपी और उचित दवा की आवश्यकता हो सकती है

मधुमेह वयस्कों (पुरुषों या महिलाओं) में निम्न ब्लड शुगर | Sugar Levels in Diabetic Adults in Hindi

  1. 71 से 90 mg/dL के बीच ब्लड शुगर लेवल को लो (low)शुगर लेवल माना जाता है। इसलिए, 15 ग्राम (gm) किशमिश जैसे उचित आहार का सेवन ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकता है।
  2. जब ब्लड शुगर (blood sugar level)का स्तर 70 से नीचे और 50 mg/dL से नीचे गिर जाता है, तो यह एक ‘गंभीर स्थिति’ होती है और हाइपोग्लाइसीमिया (Hypoglycemia) के लिए आपातकालीन उपचार की आवश्यकता होती है।

सारांश

उच्च ब्लड शुगर (blood sugar level) की सीमा 180 से 250 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL)  के बीच होती है, जबकि 70 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL)  से कम होती है। 250 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL) से ऊपर और 50 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL)  से कम के लिए तत्काल चिकित्सा ध्यान देने की आवश्यकता है

निम्न ब्लड शुगर के स्तर के लक्षण और उपचार

निम्न (low)  शुगर लेवल के लक्षण

निम्न (low) ब्लड शुगर (blood sugar level) की स्थिति या हाइपोग्लाइसीमिया (hypoglycmeia) तब होता है जब रक्त शर्करा का स्तर 70 मिलीग्राम/डीएल से नीचे गिर जाता है।‎

ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर में उतार-चढ़ाव निम्नलिखित कारकों के कारण हो सकता है:‎

  1. डायबिटीज (diabetes)
  2. ‎दवा का प्रभाव
  3. खा‎ना ठीक से न खाना (मात्रा और गुणवत्ता)‎
  4. अंतःस्रावी विकार ‎ (Endocrine disorders)
  5. जिगर या हृदय रोग
  6. शराब का सेवन
  7. गर्भावस्था

निम्न (low) ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर, जब बिना उपचार के छोड़ दिया जाता है,  तो यह खतरनाक हो सकता है। यदि स्तर 50 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से नीचे हैं, तो यह महत्वपूर्ण है और तत्काल चिकित्सा उपचार की आवश्यकता है। निम्न (low) ब्लड शुगर (blood sugar level)  की स्थिति के कुछ सामान्य लक्षण हैं:‎

  1. चक्कर आना और भ्रम होना
  2. शरीर या हाथ या अंगों में कंपकंपी / झुनझुनी सनसनी का अनुभव
  3. हल्का सिरदर्द
  4. घबराहट और चिड़चिड़ा व्यवहार
  5. चिंता और तनाव
  6. ठंड लगना और पसीना आना
  7. तेज़ हृदय गति
  8. बेहोशी

प्रमाणित डायबिटीज रिवर्सल (Diabetes Reversal) कोच के सही मार्गदर्शन से इन लक्षणों को खत्म करना संभव है। ये कोच आपकी दैनिक दिनचर्या और वर्तमान जीवन शैली को समझते हैं और आपको आहार और जीवन शैली में बदलाव करने में मदद करते हैं जो आप आसानी से डायबिटीज के प्रबंधन के लिए कर सकते हैं। ये छोटे-छोटे बदलाव आपके रक्त शर्करा के स्तर पर भारी प्रभाव डालते हैं और आपके डायबिटीज को उलटने में मदद करते हैं।

प्रत्येक डायबिटीज (diabetes) से बीमार व्यक्ति को इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level)   के स्तर को कैसे बनाए रखा जाए। यह ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर, रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करके किया जा सकता है। ब्रीद वेल बीइंग (Breathe Well-being) यहाँ आपकी मदद के लिए है । डायबिटीज के 50% से अधिक रोगियों ने केवल 22 पाउंड वजन कम करने के बाद अपने डायबिटीज टाइप 2 को सही किया है। इन उत्कृष्ट परिणामों से पता चलता है कि उचित आहार और ‘जीवन शैली समायोजन के साथ, इस बीमारी में बहुत ज़्यादा राहत मिलेगी और वह भी 6 महीने के भीतर।

"high

इसको भी पढ़े: मधुमेह के लिए मधुनाशिनी वटी

निम्न शुगर लेवल के लिए उपचार

यदि आप निम्न (low)  ब्लड शुगर (blood sugar level)  के लक्षणों का अनुभव करते हैं, तो तुरंत अपने ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर का परीक्षण करें। 60 से 80 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL) के स्तर के लिए, 15 ग्राम फास्ट-एक्टिंग कार्ब्स का सेवन करें। 15 मिनट के बाद दोबारा टेस्ट करें और फास्ट-एक्टिंग कार्ब्स तब तक खाएं जब तक शुगर लेवल नॉर्मल न हो जाए।

लेकिन अगर रक्त शर्करा का स्तर अभी भी 50 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से नीचे है, तो जांच लें कि क्या रोगी होश में है और खाने में सक्षम है। अगर हां तो 15 ग्राम फास्ट-एक्टिंग कार्ब्स दें।

लेकिन यदि रोगी बोलने में असमर्थ हो तो रोगी को कुछ भी खाने को न दें। आपातकालीन सेवाओं को तुरंत कॉल करें। यदि संभव हो तो, इंजेक्शन के माध्यम से ग्लूकागन का प्रशासन करें।

उच्च ब्लड शुगर के स्तर के लक्षण और उपचार

उच्च ब्लड शुगर के स्तर के लक्षण

जब ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर > 180mg/dL से अधिक होता है, तो यह खतरनाक हो सकता है और इसके लिए चिकित्सा की आवश्यकता होती है। यह स्थिति, जिसे ‘हाइपरग्लेसेमिया’  (Hyperglycemia) भी कहा जाता है, तब होती है जब शरीर में इंसुलिन की कमी होती है या इसका शरीर ‘ठीक से उपयोग’ नहीं कर पाता है।

उच्च (high) ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर के कुछ सामान्य लक्षण हैं:‎

  1. थकान का अनुभव
  2. ‎असामान्य प्यास
  3. ‎बार-बार पेशाब आना
  4. ‎सिरदर्द और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई
  5. ‎धुंधली दृष्टि
  6. ‎असामान्य वजन

अगर इसको सही समय पर ठीक नहीं किया गया तो हाइपरग्लेसेमिया (Hyperglycemia) डायबिटीज  केटोएसिडोसिस (diabetic ketoacidosis), का कारण बन सकता है, जो के आगे चलके खतरनाक और जान लेवा बीमारी  बन सकती है  ।

उच्च (high) ब्लड शुगर के लिए उपचार

यदि ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर 180 से 250 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) के बीच है, तो चिकित्सा सलाह लें और दवाएँ लें। तेजी से काम करने वाले कार्ब आहार को न लें ।

यदि ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर > 250 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL)  है, तो आपको तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है। यदि इसका इलाज नहीं किया जाता है, तो यह कोमा और रक्त में उच्च कीटोन्स (ketones) का कारण बन सकता है। इसलिए कीटोन्स(ketones) की जांच कराएं और जितनी जल्दी हो सके इंसुलिन थेरेपी (insulin therapy) लें।

यदि आप नियमित रूप से उच्च( high) ब्लड शुगर (blood sugar level)   के स्तर का अनुभव करते हैं, तो आपको निम्नलिखित करने की सलाह दी जाती है:

  1. कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स(low glycemic index) के साथ कम चीनी वाला आहार को खाये ।
  2. फलों के रस का सेवन न करें।‎
  3. हल्के व्यायाम करें और स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखें।
  4. उचित इंसुलिन खुराक प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञों से परामर्श लें।
  5. दवाई समय पर लें।
  6. ‎नियमित रूप से अपने ग्लूकोज़ के स्तर की निगरानी करें।

कई डायबिटीज (diabetes)  रोगी अपने आहार या दैनिक दिनचर्या में आवश्यक परिवर्तनों से अवगत होते हैं, लेकिन विभिन्न कारणों से उनका पालन नहीं कर पाते हैं। प्रेरणा और उचित ज्ञान की कमी सबसे आम कारण है। डायबेटोलॉजिस्ट  (Diabetologist) के मार्गदर्शन के साथ-साथ डायबिटीज रिवर्सल (Diabetes reversal) कोच से निरंतर प्रेरणा और मार्गदर्शन रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है और इस प्रकार आपको स्वस्थ जीवन जीने में मदद कर सकता है।

normal sugar level kitna hota hai

इसको भी पढ़े: डायबिटीज (शुगर) के मरीजों को तरबूज खाना चाहिए या नहीं?

अंत में:-

आपकी चिकित्सा स्थिति के आधार पर ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर उच्च या निम्न हो सकता है। इन स्तरों के बारे में जानने के लिए ब्लड शुगर लेवल चार्ट सबसे आसान तरीका है। लेकिन अपने ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर और ‘उनकी विविधताओं के कारणों’ के बारे में एंडोक्रिनोलॉजिस्ट (endocrinologist) से सलाह लें।

यदि आपको डायबिटीज (diabetes) है, तो अपने ब्लड शुगर (blood sugar level)  के स्तर की निगरानी करना और उन्हें सामान्य स्तर पर रखना याद रखें। इस तरह, आप डायबिटीज (diabetes)  की जटिलताओं से बच सकते हैं और दैनिक जीवन जी सकते हैं।

आहार, व्यायाम और जीवन शैली में कदम दर कदम परिवर्तन करके डायबिटीज (diabetes)  को  ठीक करने की विधि से ब्लड शुगर (blood sugar level)  को स्वस्थ स्तर पर रखा जा सकता है। 10000+ रोगी पहले ही हमारी वैज्ञानिक सिद्ध पद्धति से लाभान्वित हो चुके हैं और दवाओं पर अपनी निर्भरता को कम करने या पूरी तरह से समाप्त करने में सक्षम हैं। डायबिटीज की चुनौतियों को दूर करने और सुखी और स्वस्थ जीवन जीने के लिए सकारात्मक होना आवश्यक है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

A1C टेस्ट मे असुरक्षित ब्लड शुगर स्तर कितना होता है ?

यदि A1C टेस्ट का मान 5.7% है, तो यह सामान्य है। यदि मान 5.7 से 6.4% के बीच है, तो यह एक प्रीडायबिटिक स्थिति है। 6 से 6.8% के बीच का स्तर नियंत्रित डायबिटीज (diabetes) का संकेत है।
लेकिन अगर स्तर > 7% हैं, तो यह असुरक्षित है और अनियंत्रित डायबिटीज (diabetes) का संकेत है।

एक डायबिटीज (diabetes) रोगी के लिए, तीन चिकित्सा आपात स्थितियाँ क्या हैं?

तीन डायबिटीज (diabetes) आपात स्थिति हैं:

  1. जब डायबिटीज (diabetes) में ब्लड शुगर का स्तर <60 mg/dL हो, यानी हाइपोग्लाइसीमिया (hypoglycemia)
  2. जब डायबिटीज (diabetes) में ब्लड शुगर का स्तर> 200 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) हो यानी हाइपरग्लेसेमिया (Hyperglycemia)
  3. जब कीटोन्स (ketones) बहुत अधिक होते हैं।

दिन मे कौन से समय ब्लड शुगर का स्तर ज़ायदा होता है?

उपवास ब्लड शुगर अधिक होता है। सुबह में, रक्त शर्करा का स्तर अधिक होता है क्योंकि रक्त के स्तर की गणना रात की नींद के बाद की जाती है, यानी रात के उपवास के बाद। फिर कुछ खाने के बाद शुगर लेवल बढ़ जाता है|

कौन से ब्लड शुगर के स्तर खतरनाक माने जाते है?

आमतौर पर 250 mg/dL से ऊपर का शुगर लेवल बहुत ज्यादा माना जाता है। लेकिन 300 mg/dL से ऊपर ब्लड शुगर का स्तर खतरनाक हो सकता है। अगर लगातार दो रीडिंग में आपका ब्लड शुगर लेवल 300 mg/dL से ऊपर दिखता है, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

क्या 139 mg/dL ब्लड शुगर (blood sugar level) उच्च (high) है?

यदि आपका ब्लड शुगर लेवल भोजन से पहले 139 mg/dL है, तो वे थोड़े अधिक हैं। खूब पानी पीना और बहुत हल्का व्यायाम इसे कम करने में मदद कर सकता है। लो शुगर और लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाला आहार लें। लेकिन अगर खाने के 1 से 2 घंटे बाद या सोते समय आपका शुगर लेवल 139 mg/dL है, तो यह सामान्य है।

एक आदमी के लिए सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) स्तर क्या है?

गैर-डायबिटीज (diabetes) वाले व्यक्ति के लिए सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 90 से 110 मिलीग्राम / डीएल के बीच होना चाहिए। डायबिटीज (diabetes) वाले व्यक्ति के लिए सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर भोजन से पहले 80 से 130mg/dL के बीच होना चाहिए।

सोते समय ब्लड शुगर क्या होना चाहिए?

एक प्रेडियबेटिक वयस्क के लिए सोने के समय ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 100 से 140 मिलीग्राम / डीएल के बीच होना चाहिए। डायबिटीज (diabetes) के रोगियों के लिए सोते समय सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 90 से 150 मिलीग्राम / डीएल के बीच होना चाहिए।

उच्चतम ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर क्या है जो सुरक्षित है?

डायबिटीज (diabetes) के मरीज़ो के लिए ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 160 से 240mg/dl के बीच उच्चतम ब्लड शुगर (blood sugar level) स्तर है जो सुरक्षित है। भोजन से पहले किसी भी व्यक्ति के लिए सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 80 से 130 मिलीग्राम / डीएल के बीच होता है। भोजन के 1-2 घंटे बाद यह 180 mg/dL से कम होना चाहिए।

क्या 150 mg/dL एक उच्च (high) ब्लड शुगर का स्तर है?

अगर खाने के 1 से 2 घंटे बाद आपका ब्लड ग्लूकोज लेवल 150 mg/dL है तो यह नॉर्मल है। लेकिन अगर भोजन से पहले ब्लड शर्करा का स्तर 150 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) है तो स्तर थोड़ा अधिक है। ऐसे मामले में खूब पानी पीने की कोशिश करें और ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं जिनमें कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स (glycemic index) वैल्यू हों जैसे कि बिना स्टार्च वाली सब्जियां, बीन्स, खीरा, स्ट्रॉबेरी, ब्लैक बेरी आदि।

5 साल के बच्चे के लिए सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) स्तर क्या है?

5 साल के बच्चे के लिए ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर पूरे दिन में 80 से 200 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) की सीमा के भीतर होना चाहिए। उपवास का स्तर 80 से 180 मिलीग्राम / डीएल(mg/dL) के बीच होना चाहिए, सोने का समय 110 से 200 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) के भीतर होना चाहिए।

जागने के बाद कितनी जल्दी मुझे अपने ब्लड शुगर (blood sugar level) का परीक्षण करना चाहिए?

वैसे तो ब्लड शुगर की जांच के काफी सारे वक़्त हैं। लेकिन ज़्यादातर लोग इसको सुबह खाली पेट करवाते हैं। लेकिन इसकी जांच का समय मरीज़ को उसकी सेहत के हिसाब से पता लगाना चाहिए और इसको करने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर सलाह लेनी चाहिए।

क्या खाने के बाद 200 mg/dL ब्लड शुगर सामान्य है?

खाने के बाद ब्लड ग्लूकोज (दो घंटे) तभी सामान्य होता है जब स्तर 140 mg/dLसे नीचे हो। 140 से 200 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) तक के किसी भी रीडिंग को प्रीडायबिटीज (prediabetes) माना जाता है और साथ ही आहार और व्यायाम सहित जीवनशैली में बदलाव शुरू किया जाना चाहिए। 200 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से अधिक ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर को डायबिटीज (diabetes) माना जाता है जिसके लिए जीवनशैली में बदलाव के साथ दवाओं की आवश्यकता होती है।

आपको किस ब्लड शुगर के लिए अस्पताल जाना चाहिए?

140 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से अधिक ब्लड शुगर के स्तर के लिए अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होती है। रक्त शर्करा के स्तर जो इस स्तर से काफी और लगातार ऊपर हैं, उन्हें उपचार के पुनर्मूल्यांकन की आवश्यकता है।

गैर- डायबिटिक (Non-diabetic) व्यक्तियों के लिए सामान्य ब्लड शुगर स्तर क्या है?

भोजन के बाद ब्लड शुगर के स्तर को प्रबंधित करने के लिए, गैर-डायबिटिक व्यक्तियों के पास भोजन के बाद 140 मिलीग्राम / डीएल(mg/dL) से अधिक नहीं होना चाहिए, और ग्लूकोज दो से तीन घंटों के भीतर भोजन से पहले के स्तर पर वापस आ जाना चाहिए।

भोजन के बाद सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) स्तर क्या है?

एडीए (ADA) के अनुसार गैर -डायबिटिक के लिए सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level)  का स्तर है:

  • उपवास रक्त ग्लूकोज (सुबह में, कुछ भी लेने से पहले): 100 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL) से कम
  • भोजन के एक घंटे बाद: 90 से 130 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL
  • भोजन के दो घंटे बाद: 90 से 110 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL)

अपने ब्लड शुगर लेवल की जांच करने का सबसे अच्छा समय क्या है?

जब आप पहली बार उठते हैं (उपवास), भोजन करने से पहले, भोजन के 2 घंटे बाद, साथ ही सोते समय ब्लड शुगर (blood sugar level) के स्तर की जाँच के लिए सबसे अच्छा समय हैं।

क्या फास्टिंग शुगर 110 mg/dL सामान्य है?

सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 100 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से कम है। प्रीडायबिटीज का अनुभव करने वाले व्यक्ति का फास्टिंग शुगर लेवल 100-125 mg/dL के बीच होता है। यदि उपवास में ब्लड शुगर (blood sugar level) का स्तर 126 मिलीग्राम/डेसीलीटर mg/dL या इससे अधिक है, तो एक संकेत है कि आपको डायबिटीज (diabetes) हैं। । 110 और 125 mg/dL के बीच एक उपवास ग्लूकोज स्तर प्रीडायबिटीज(prediabetes) की सीमा के अंतर्गत आता है। 110 mg/dL से नीचे सामान्य है और 126 mg/dL से अधिक डायबिटीज (diabetes) है।

क्या सुबह के समय 135 mg/dL ब्लड शुगर हाई माना जाता है?

भोजन करने के बाद सामान्य ब्लड शुगर का स्तर 135 और 140 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) के बीच होता है। भोजन से पहले और बाद में ब्लड शुगर के स्तर में ये अंतर सामान्य हैं और शरीर में शर्करा के अवशोषण और भंडारण के तरीके को भी दर्शाते हैं। जाहिर है, 135 मिलीग्राम/डीएल (mg/dL) उच्च (high) ब्लड शुगर के स्तर की सीमा में आता है।

सुबह के समय स्वस्त और नार्मल ब्लड शुगर का स्तर कितना होना चाहिए ?

सुबह नाश्ते से पहले ब्लड शुगर का स्तर 70-130 mg/dL के बीच रखना बेहतर होता है। साथ ही, अन्य समय में ग्लूकोज़ का स्तर 70-180 mg/dL के बीच होना चाहिए।

भारत में सामान्य ब्लड शुगर का स्तर क्या है?

140 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से नीचे ब्लड शुगर का स्तर सामान्य माना जाता है। 2 घंटे के बाद 200 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से ऊपर का स्तर एक संकेत है कि आपको डायबिटीज हैं। 140 से 199 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) की सीमा में रीडिंग प्रीडायबिटीज (prediabetes) की स्थिति को दर्शाती है।

भोजन से पहले सामान्य ब्लड शुगर का स्तर क्या है?

खाना खाने से पहले ब्लड शुगर का लक्ष्य 80 से 130 mg/dL . के बीच होना चाहिए |

क्या खाने से पहले ब्लड शुगर का 135 mg/dL होना ज्यादा है?

100 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से नीचे रक्त शर्करा का स्तर सामान्य माना जाता है। 110 और 125 mg/dL के बीच ब्लड शुगर लेवल का मतलब प्रीडायबिटीज या बिगड़ा हुआ फास्टिंग शुगर है। साथ ही, 126 mg/dL से ऊपर के स्तर को डायबिटीज माना जाता है।

उम्र के हिसाब से सामान्य ब्लड शुगर लेवल क्या है?

उम्र के हिसाब से सामान्य ब्लड शुगर लेवल नीचे दी गई तालिका में बताया गया है:

उम्र के हिसाब से सामान्य ब्लड शुगर लेवल
आयु ब्लड शुगर रेंज (मिलीग्राम / डीएल)
0 से 5 वर्ष 100 to 180 (मिलीग्राम / डीएल) (mg/dL)
6 से 9 वर्ष 80 to 140   (मिलीग्राम / डीएल) (mg/dL)
10 साल और अधिक 70 to 120  (मिलीग्राम / डीएल) (mg/dL)

उपवास के बाद स्वस्थ ब्लड शुगर लेवल क्या होना चाहिए?

गैर-डायबिटीज और डायबिटीज रोगियों के लिए उपवास के बाद ब्लड शुगर का स्तर नीचे दी गई तालिका में बताया गया है:

उपवास के बाद ब्लड शुगर स्तर का चार्ट

उपवास के बाद ब्लड शुगर स्तर ब्लड शुगर रेंज (मिलीग्राम / डीएल)
गैर-डायबिटीज रोगियों के लिए सामान्य ब्लड शुगर  स्तर 70 to 99 mg/dl
डायबिटीज रोगियों के लिए एडीए (ADA) प्रस्ताव 80 to 130 mg/dl

8 घंटे के उपवास के बाद सामान्य ब्लड शुगर (blood sugar) का स्तर क्या होता है?

वह लोग जिन्हे डायबिटीज नहीं है, और जिन्होंने कम से कम 8 घंटे का उपवास किया है, उनका ब्लड शुगर (blood sugar) का स्तर 100 मिलीग्राम / डीएल (mg/dL) से नीचे होना चाहिए। आप लेख में उपरोक्त चार्ट से गैर-डायबिटीज लोगों के लिए ब्लड शुगर की सीमा के बारे में जान सकते हैं।

संदर्भ:

  1. [1]. Diabetes Tests. Retrieved from: https://www.cdc.gov/diabetes/basics/getting-tested.html

Last Updated on by Dr. Damanjit Duggal 

Disclaimer

The information included at this site is for educational purposes only and is not intended to be a substitute for medical treatment by a healthcare professional. Because of unique individual needs, the reader should consult their physician to determine the appropriateness of the information for the reader’s situation.

Leave a Reply

X