गैल्वस मेट 50mg/500mg टैबलेट: उपयोग, दुष्प्रभाव, कीमत (Galvus Met 50/500mg Tablet: Uses, Side Effects and Price)

Galvus Met 50/500 MG Tablet टाइप 2 डाइबीटिक लोगों के लिए एक एंटी-डायबिटिक दवा है जो इन लोगों में बढ़े हुए शुगर लेवल्स को कम करने के लिए दी जाती है।   एक कॉम्बिनेशन दवा होने की वजह से यह लिवर डेमेज, किडनी प्रॉब्लम्स और अंधापन जैसी गंभीर जटिलताओं को रोकने में मदद करती है।

डॉक्टर की सलाह पर इस दवा का सेवन करने से दिल का दौरा और स्ट्रोक होने की संभावना को रोकने में भी मदद मिलती है। यह दवा आपको अकेले या फ़िर किसी और दवाई के साथ दी जा सकती है। इस दवा के साथ एक हेल्दी डाइट व रेगुलर एक्सर्साइज़ करने से इस दवा का ज़्यादा असर होता है।

Galvus Met की खुराक आपकी स्थिति, ब्लड शुगर लेवल्स और आपके द्वारा ली जा रही अन्य दवाओं पर निर्भर करती है। इस दवा को भोजन के साथ लेने की सलाह दी जाती है वरना यह पेट खराब कर सकती है।

Table of Contents

गैल्वस मेट 50/500 एमजी टैबलेट क्या है?- पूर्ण जानकारी (What is Galvus Met 50/500 MG Tablet?)

गैल्वस मेट 50/500 एमजी टैबलेट का अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए इसे नियमित रूप से और एक ही समय पर सेवन किया जाना चाहिए। इसे डॉक्टर के परामर्श के बाद ही बंद करे। इसी के साथ अन्य स्वास्थ्य परेशानियों से बचने के लिए हमेशा स्वस्थ आहार लें। याद रखें, आपकी जीवनशैली डायबिटीज़ को नियंत्रित करने में प्रमुख भूमिका निभाती है।

मतली, दस्त, उल्टी, पेट खराब, गले में खराश, सिरदर्द, चक्कर आना कुछ ऐसे सामान्य साइड-इफ़ेक्ट्स या  दुष्प्रभाव हैं जो गैल्वस मेट के सेवन से हो सकते हैं। साथ ही, यदि आप पहले से इंसुलिन, सल्फोनील्यूरिया जैसी अन्य डायबिटीज़ की दवाओं का सेवन कर रहे हैं, तो आपको हाइपोग्लाइसीमिया या लो ब्लड शुगर हो सकती हैं।

यह डाईबिटीज़ की दवा Galvus Met हर किसी के लिए उपयुक्त नहीं है। इसलिए यह सुनिश्चित करें कि आपका डॉक्टर आपकी मेडिकल हिस्ट्री जैसे किडनी की समस्याओं, लिवर की समस्याओं, हृदय रोग या अग्न्याशय की समस्याओं को जानता हो। यदि आप शराब का सेवन करते हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को ज़रूर बताएं।

गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। अगर आप गैलवस मेट 50 एमजी/500 एमजी टैबलेट को दूसरी दवाओं के साथ ले रहे हैं तो डॉक्टर को बता दें कि इससे गंभीर साइड इफेक्ट हो सकते हैं। इसके अलावा, जब आप यह दवा ले रहें हों तो शराब का सेवन करने से बचें। आपका डॉक्टर आपकी डायबिटीज़ ट्रीट करने से पहले और उसके दौरान आपकी किडनी और लिवर के कार्य की भी जाँच करता है।

और पढ़ें: सी रिएक्टिव प्रोटीन टेस्ट

गैल्वस मेट 50/500 एमजी टैबलेट के मुख्य लाभ (Main Benefits of Galvus Met 50 MG/500 MG Tablet)

गैल्वस मेट 50mg/500mg टैबलेट

दो दवाओं का संयोजन होने के कारण गैल्वस मेट ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है। डायबिटीज़ मेनेजमेंट के समय शुगर लेवल्स को संतुलित करना महत्वपूर्ण है। एक बार जब शुगर लेवल्स नियंत्रित हो जाते है, तो किडनी डएमेज, आंखों की क्षति और तंत्रिका संबंधी समस्याओं जैसी गंभीर जटिलताएं भी कम हो जाती हैं। कन्ट्रोल्ड डायबिटीज़ हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को भी कम करता है। उचित आहार के साथ गैल्वस मेट का सेवन करने से आपको सामान्य और स्वस्थ जीवन जीने में मदद मिलती है। आपको केवल यह सुनिश्चित करना है कि आपके डॉक्टर द्वारा सलाह दिए जाने के बाद ही इस दवा का सेवन किया जाए।

और पढ़ें: क्या शुगर में चावल खा सकते हैं ?

गैल्वस मेट के सेवन से होने वाले नुक्सान (Side Effects of Galvus Met) 

अधिकांश दुष्प्रभावों या साइड-इफ़ेक्ट्स के लिए किसी चिकित्सकीय सहायता की आवश्यकता नहीं होती है और कुछ समय में यह गायब हो जाते हैं। लेकिन यदि यह स्थिति लंबे समय तक बनी रहती है तो डॉक्टर से परामर्श लें। इसके कुछ सामान्य दुष्प्रभावों में शामिल हैं:

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • पेटदर्द
  • दस्त
  • सिरदर्द
  • सिहरन
  • चक्कर आना
  • भूख में कमी
  • धातु का स्वाद
  • हाइपोग्लाइसीमिया

गैल्वस मेट 50/500 एमजी टैबलेट के उपयोग (Main Uses of Galvus Met 50/500 MG Tablet)

आपके डॉक्टर द्वारा सुझाई गई खुराक और अवधि में इस दवा का सेवन करने की सलाह दी जाती है। आप इसे पूरा निगल कर लें, इसे चबा के, चूरा करके या तोड़ के न लें।

इसे हमेशा भोजन के साथ लें।

यह कैसे काम करती है? (How does it Work?)

एंटी-डायबिटिक या मधुमेह-विरोधी दवा होने के कारण, गैलवस मेट 50/500 मिलीग्राम लिवर में ग्लूकोज उत्पादन को कम करके और इंसुलिन के लिए शरीर की संवेदनशीलता को बढ़ाकर काम करती है। यह अग्न्याशय (pancreas) से इंसुलिन को रिलीज़ करने में भी मदद करती है और ब्लड शुगर लेवल्स को बढ़ाने वाले हार्मोन को कम करती है।

इस दवा का सेवन उपवास (fasting) और भोजन के बाद (pp) के शुगर लेवल्स को कम करने में मदद करता है और रक्त शर्करा के स्तर को बेहतर नियंत्रण प्रदान करता है।

और पढ़ें: शुगर में कौन सी होम्योपैथिक दवा खाएं?

क्या करें अगर गैल्वस मेट खाना भूल जाएं? (Missed Doses of Galvus Met)

कोशिश करें की इस दवा का डोज़ मिस ना हो। आपको सलाह दी जाती है कि याद आते ही छूटी हुई खुराक का सेवन करें। आपको अपनी छूटी हुई खुराक को तभी छोड़ना चाहिए जब यह आपकी अगली खुराक लेने का समय हो। रोगी को छूटी हुई खुराक की भरपाई के लिए अतिरिक्त खुराक नहीं लेनी चाहिए क्योंकि इससे अन्य परेशानियाँ हो सकती हैं।

क्या करें अगर गैल्वस मेट का ओवरडोज़ हो जाए? (Overdose of Galvus Met 50 MG/500 MG Tablet)

इस दवा के ओवरडोज़ से अनियमित दिल की धड़कन, चक्कर आना, तेजी से सांस लेना, उल्टी और सांस लेने में परेशानी जैसे गंभीर साइड-इफ़ेक्ट्स या दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

और पढ़ें: एचबीए1सी का नार्मल स्तर 

इस दवा को न लें यदि (Things to Remember while taking this Medicine)

Vildagliptin या Metformin के लिए हाइपरटेनसीव हो।

अनियंत्रित डायबिटीज़ के साथ मतली, उल्टी, लूज़ मोशन, तेजी से वजन घटना, या तेज़ सांस लेने के स्थिति हो।

रक्त शर्करा के स्तर में तत्काल वृद्धि या गिरावट के कारण डाऊबीटीज़ कोमा की स्थिति में हो।

रोज़ बहुत अधिक शराब लेता हो।

संक्रमण या निर्जलीकरण हो।

सर्जरी या तनाव से गुजरना।

स्तनपान करने वाली महिलाएं।

दवा का इंटरेक्शन

ड्रग-ड्रग इंटरेक्शन: गैल्वस मेट टैबलेट दर्द निवारक जैसे एस्पिरिन, इबुप्रोफेन और सेलेकॉक्सिब के साथ परस्पर क्रिया करता है। इसके अतिरिक्त यह अन्य दवाओं के साथ भी इंटरेक्ट करती है: थायरॉइड हार्मोन जैसे थायरोक्सिन; एंटीहाइपरटेंसिव दवाएं जैसे निफ़ेडिपिन, कैप्टोप्रिल, एनालाप्रिल, लिसिनोप्रिल; सिमेटिडाइन सहित एंटासिड; या तंत्रिका तंत्र पर प्रभाव डालने वाली कुछ दवाएं।

ड्रग-फूड इंटरेक्शन: बहुत अधिक मादक पेय का सेवन लैक्टिक एसिडोसिस जैसी खतरनाक स्थिति की संभावना को बढ़ा सकता है। इस प्रकार, गैल्वस मेट टैबलेट के साथ मादक पेय शराब न लेने की सलाह दी जाती है।

ड्रग-डिज़ीज़ इंटरेक्शन: हृदय संबंधी समस्याओं वाले व्यक्ति जैसे कंजेस्टिव हार्ट फेल्योर और मायोकार्डियल इन्फ्रक्शन; विटामिन बी 12 की कमी के साथ-साथ शराब के नशे में गैल्वस मेट 50 मिलीग्राम / 500 मिलीग्राम टैबलेट नहीं लेना चाहिए।

और पढ़ें: शुगर के मरीजों के लिए योगा

इस दवा का सेवन कब और कौन न करें (When and who should not take this medicine)?

गैल्वस मेट का सेवन कब ना करें

गाड़ी चलाते समय( While Driving)

इस दवा का सेवन करते समय ड्राइव न करें क्योंकि इससे चक्कर आ सकते हैं। वाहन चलाने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

और पढ़ें: शुगर में किन सब्जियों का सेवन हो सकता है नुकसानदायक ?

गर्भावस्था (While Pregnancy)

गर्भवती महिलाओं को गैल्वस का सेवन करने का सुझाव तभी दिया जाता है जब उनके डॉक्टर इसकी सलाह देते हैं। आपको इस दवा को अपने आप कभी भी शुरू नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं।

आपको सलाह दी जाती है कि कोर्स शुरू करने से पहले Galvus Met को लेने से होने वाले फायदों और साइड-इफ़ेक्ट्स के बारे में पहले अपने डॉक्टर से बात करें। आपकी स्थिति का विश्लेषण करने के बाद, आपका डॉक्टर एक अलग दवा का सुझाव दे सकता है।

और पढ़ें: मेटफोर्मिन खाने से होने वाले साइड इफ़ेक्ट/ नुक्सान

स्तनपान कराने वाली माताएं (Lactating Mothers)

स्तनपान कराने वाली माताओं को यह दवा अपने आप नहीं लेनी चाहिए। कुछ शोधों के अनुसार, यह स्तन के दूध से शिशुओं तक पहुँच सकती है और शिशुओं में स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है। स्तनपान कराने वाली माताओं को यह दवा अपने आप किसी भी स्थिति में नहीं शुरू करनी चाहिए।

और पढ़ें: क्या मधुमेह में गुड़ का सेवन कर सकते हैं?

किडनी प्रॉब्लम्स वाले व्यक्ति (People with Kidney Problems)

किडनी की समस्या से पीड़ित रोगियों को इस दवा का सेवन अपने आप नहीं करना चाहिए। कृपया इस दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

लिवर प्रॉब्लम्स वाले व्यक्ति (People with Liver Problems)

गैल्वस मेट 50/500 मिलीग्राम का सेवन केवल हेपेटिक समस्याओं से पीड़ित रोगियों के साथ किया जाना चाहिए यदि उनके डॉक्टर इसकी अनुमति देते हैं। यदि आप इस दवा का सेवन कर रहें हैं तो आपके डॉक्टर द्वारा एलएफटी की नियमित निगरानी की सलाह दी जाती है। यह सलाह दी जाती है कि अगर आपको लीवर की किसी भी तरह की समस्या है तो इस दवा का सेवन न करें।

और पढ़ें: क्या मधुमेह के रोगी मूंगफली खा सकते हैं ?

शराब के साथ (While drinking Alcohol)

इस दवा के सेवन के दौरान शराब का सेवन न करें। इससे चक्कर आना, सिरदर्द आदि जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं। कृपया शराब का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

गैल्वस लेते वक़्त किये जाने वाले परहेज़ (Precautions while taking Galvus)

गैल्वस मेट टैबलेट का उपयोग टाइप 1 मधुमेह या मधुमेह केटोएसिडोसिस वाले लोगों द्वारा नहीं किया जाना चाहिए। कुछ मधुमेह रोगी, इस दवा का उपयोग करते समय लैक्टिक एसिडोसिस नामक दुर्लभ लेकिन गंभीर स्थिति विकसित कर सकते हैं। लैक्टिक एसिडोसिस में, लैक्टिक एसिड की अधिकता ब्लड में हो जाती है जिसके परिणामस्वरूप लिवर या किडनी डेमेज होती है। यह दोनों अंग रक्त से बहुत अधिक लैक्टिक एसिड को निकालने के लिए आवश्यक है।

इससे पहले कि कोई व्यक्ति गैल्वस मेट टैबलेट लेना शुरू करे, डॉक्टर को पहले से मौजूद स्थितियों जैसे अग्नाशयशोथ (अग्न्याशय में सूजन), किडनी संबंधित समस्याओं या विटामिन बी 12 के निम्न स्तर के बारे में ज़रूर बताएं।

गैल्वस मेट टैबलेट जब इंसुलिन के संयोजन में उपयोग किया जाता है, तो रक्त ग्लूकोज के स्तर को तीव्रता से कम कर सकता है जिसके परिणामस्वरूप हाइपोग्लाइसीमिया हो सकता है, जो घातक हो सकता है। ऐसे मामलों में, इसकी खुराक को आवश्यकता के अनुसार निर्धारित करें।

जब Galvus को लंबे समय तक लिया जाता है, तो यह शरीर में थायराइड-उत्तेजक हार्मोन (TSH) को कम कर सकता है; इस प्रकार, टीएसएच की वार्षिक जांच का सुझाव दिया जाता है।

दुर्लभ मामलों में, एक व्यक्ति बुलस पेम्फिगॉइड नामक एक गंभीर त्वचा प्रतिक्रिया या स्किन रिएक्शन भी विकसित कर सकता है। इसके लिए तत्काल डॉक्टर से परामर्श लें।

किसी भी एक्स-रे प्रक्रिया से पहले गैल्वस मेट के उपयोग से बचना चाहिए।

और पढ़ें: मधुनाशिनी वटी का सेवन कैसे करें ?

स्टोर कैसे करें (How to Store)

दवा को सीधे धूप, गर्मी और नमी से सुरक्षित, ठंडी और सूखी जगह पर स्टोर किया जाना चाहिए। Galvus Met को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें। एक्सपायर्ड टैबलेट का इस्तेमाल न करें। जिन दवा का उपयोग नहीं किया हो उन्हे अच्छे से डिस्पोज़ करें। दवा को शौचालय में न बहाएं या दवा को नाली में फेंकने से बचें।

गैल्वस मेट 50/500 एमजी टैबलेट का उपयोग करने के लिए टिप्स (Tips to Use Galvus Met 50 MG/500 MG Tablet)

इस दवा के नियमित सेवन से ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करने और स्वस्थ आहार चार्ट का पालन करने की सलाह दी जाती है।

पेट की ख़राबी से बचने के लिए भोजन के साथ Galvus Met लें।

इसके सेवन से अन्य मधुमेह रोगियों की तुलना में वजन बढ़ने और निम्न रक्त शर्करा होने की संभावना कम होती है।

यदि आपने किसी प्रकार की सर्जरी या एनेस्थेटिक उपचार कराया है, तो आपको अपने डॉक्टर को सूचित करने की सलाह दी जाती है।

मतली, तेजी से सांस लेने, पेट दर्द के मामले में कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

आपका चिकित्सक उपचार शुरू करने से पहले आपके गुर्दे और यकृत की समस्याओं की जांच करेगा। यदि आपको पेट में दर्द, भूख न लगना, गहरे रंग का मूत्र जैसे लक्षण महसूस होते हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से तत्काल इस बारे में चर्चा करें।

अलग-अलग ब्रांडस में 15 गोली की स्ट्रिप की कीमत कई डिस्काउंट व ऑफर के साथ Rs. 250-260 से लेकर 350 तक हो सकती है। यह कीमत अलग-अलग जगह भिन्न हो सकती है इसलिए इसे देख कर आप अपनी इच्छा से इसे ऑनलाइन या ऑफलाइन मँगवा सकते हैं।

और पढ़ें: मधुमेह में किन फलों का सेवन करें

FAQs:

क्या Galvus Met से हाइपोग्लाइसीमिया हो सकता है?

Galvus Met के सेवन से हाइपोग्लाइसीमिया नहीं होता है। लेकिन अगर इसका सेवन अपर्याप्त कैलोरी के साथ किया जाए तो यह कुछ स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकता है। हाइपोग्लाइसीमिया के कुछ लक्षणों में सिरदर्द, चक्कर आना, जी मिचलाना, पसीना आना आदि शामिल हैं। आपको सलाह दी जाती है कि आप ब्लड शुगर लेवल की नियमित जांच कराते रहें।

क्‍या Galvus के कारण उल्‍टी और जी मिचलाना हो सकता है?

हां, कुछ लोगों में, यह दवा मतली, निर्जलीकरण (dehydration), चक्कर आना और उल्टी जैसे साइड-इफ़ेक्टस पैदा कर सकती है। यदि समस्या लंबे समय तक बनी रहती है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लें। सुनिश्चित करें कि डॉक्टर की सलाह के बिना इस दवा का सेवन न करें।

गैल्वस मेट के उपयोग के साथ किन बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए?

एलर्जी वाले मरीजों या गैल्वस मेट के किसी अवयव से एलर्जी होंए पर इस दवा के सेवन से बचना चाहिए। किडनी प्रॉब्लम्स, लिवर डेमेज , हृदय रोग से पीड़ित रोगियों को अपने चिकित्सक से परामर्श करने के बाद ही इस दवा का सेवन करना चाहिए।

Galvus Met Tablet को कैसे स्टोर करें?

इस दवा को एक तंग कंटेनर में और सीधे धूप, हवा, प्रकाश और बच्चों से दूर रखें। सुनिश्चित करें कि दवा को सुरक्षित स्थान पर और बच्चों से दूर रखा गया है। दवा के संपर्क में आने से हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं। आपको गैल्वस को कमरे के तापमान पर 20-25 डिग्री सेल्सियस के बीच रखना चाहिए।

Last Updated on by Dr. Damanjit Duggal 

Disclaimer

The information included at this site is for educational purposes only and is not intended to be a substitute for medical treatment by a healthcare professional. Because of unique individual needs, the reader should consult their physician to determine the appropriateness of the information for the reader’s situation.

Leave a Reply

स्वाभाविक रूप से मधुमेह की दवा से छुटकारा पाएं!

X